कोरोना ने पसारा पाँव,अब तक 45 लोग कोरोना संक्रमित , 10500 लोगों को वैक्सीन दिया जा चुका है !

सुपौल/राघोपुर: विकास आनंद

कोरोना ने पसारा पाँव,अब तक 45 लोग कोरोना संक्रमित , 10500 लोगों को वैक्सीन दिया जा चुका है !

जिले में सबसे ज्यादे संक्रमित है राघोपुर क्षेत्र में

★कोरोना वायरस के रिप्रोडक्टिव वैल्यू में वृद्धि के कारण बढ़ रहा है मामला !

★वैक्सीन की कमी होने का अनुमान है !

★जिले में चार कोविड सेंटर है,कोविड बेड की कमी है !

बिहार/सुपौल: कोरोना संक्रमण ने जिले में पाँव पसारना शुरू कर दिया है। जिले के राघोपुर रेफेरल अस्पताल में कोरोना जाँच किये जा रहे हैं, जिनमें से अब तक 45 संक्रमित पाए जाने से आस-पास के क्षेत्र में भय का माहौल बना हुआ है।

स्थिति की जानकारी देते हुए स्वास्थ्य प्रबन्धक मुकेश कुमार ने बताया कि लगातार कोरोना टेस्टिंग कराया जा रहा है और 45 वर्ष से ज्यादे उम्र के सभी लोगों को आधार कार्ड की छायाप्रति लेकर निःशुल्क कोविड वैक्सीन दिया जा रहा है। स्वास्थ्य प्रबंधक मुकेश कुमार ने बताया कि राघोपुर पी एच सी में कोरोना टेस्टिंग के बाद अभी तक कुल 45 लोग संक्रमित पाए जा चुके हैं जो कि जिला सुपौल में सबसे ज्यादे है। इतने कम दिनों में इतना ज्यादा संक्रमित पाए जाने से आस पास के क्षेत्रों के लोग भयभीत है।

आगे स्वास्थ्य प्रबन्धक ने बताया कि अब तक इस सेंटर से 10500 लोगों को वैक्सीनेटेड किया जा चुका है और अब सिर्फ 500 से कम वैक्सीन बचा हुआ है, जो कि जब न तब समाप्त हो जाएगा। वैक्सीन समाप्त होने की स्थिति में इस कार्य को बाधित किया जा सकता है, बशर्ते कि वैक्सीन की अगली खेप पहुँच न जाए।

मौके पर तैनात चिकित्सक रमेश कुमार मेहता ने जानकारी दिया कि जाँच के बाद संक्रमित मरीज को तत्काल प्राथमिक उपचार हेतु दवा और कोरोना गाइडलाइन से सम्बंधित जानकारी देते हुए जिले में मौजूद चार कोविड सेंटर में बेड की उपलब्धता के अनुसार शिफ्ट किया जा रहा है।

डॉक्टर रमेश मेहता ने बताया कि जिले में चार कोविड सेंटर है जो कि सुपौल मुख्यालय के नजदीक कर्णपुर, निर्मली, त्रिवेणीगंज और बलुआ में स्थित है। चिकित्सक डॉक्टर रमेश मेहता ने कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले के पीछे का मुख्य कारण वायरस की प्रजनन क्षमता (रिप्रोडक्टिव वैल्यू या आर वैल्यू ) में हुई वृद्धि को बता रहे हैं । साथ ही उन्होंने कहा कि पिछले कुछ माह से कोरोना के मामले में आई कमी के चलते लोगों ने लापरवाही बरतनी शुरू कर दी थी, जिसके कारण कोरोना को पाँव पसारने का मौका मिल गया।

राघोपुर पी एच सी में मौजूद डब्लूएचओ के फील्ड मॉनिटर नागेश्वर प्रसाद कोविड संक्रमित मरीजों से संबंधित सारी जानकारी और उनके परिजनों का सारा विवरण लेकर सभी को जाँच के लिए सलाह देते हुए दिखे। डब्लू एच ओ के नागेश्वर प्रसाद ने बताया कि कोविड की स्थिति की मॉनिटरिंग डब्लू एच ओ कर रही है और उपचार हेतु सारी व्यवस्था स्वास्थ्य विभाग द्वारा किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!