डॉ महेन्द्र कुमार सिन्हा का असामयिक निधन समाज के लिए अपूरणीय क्षति !

सुपौल/छातापुर: आशीष कुमार सिंह

डॉ महेन्द्र कुमार सिन्हा का असामयिक निधन समाज के लिए अपूरणीय क्षति !

बिहार/सुपौल: छातापुर के जाने माने चिकित्सक सह गरीबों के मसीहा डॉ. महेन्द्र कुमार सिन्हा का रविवार सुबह उनके पैतृक आवास पर निधन हो गया।

sai hospitalउनके असामयिक निधन से परिजनों समेत चिकित्सा क्षेत्र से जुड़े शुभचिंतकों के बीच शोक की लहर दौड़ गई। घटना की खबर मिलते ही उनके पार्थिव शरीर के अंतिम दर्शन व शोक संतप्त परिजनों को ढाढस बंधाने के लिए स्नेहीजनों की कतार लगी रही।

स्व सिन्हा ने अपने कैरियर के दौरान काफी उतार चढ़ाव देखे।साधारण से लोकल प्रैक्टिसनर के तौर पर अपने कैरियर की शुरुआत करते हुए उन्होंने संघर्ष जारी रखा और छातापुर ही नहीं आस पास के क्षेत्रों में भी चिकित्सक के रूप में अच्छी खासी ख्याति अर्जित की।

डॉ महेंद्र कुमार सिन्हा
डॉ महेंद्र कुमार सिन्हा(फ़ाइल फ़ोटो)

सस्ते व कम खर्चीले ईलाज की वजह से वे खासकर गरीब परिवारों के लिए मसीहा के सामान थे।मृदुल स्वभाव के धनी रहे स्व सिन्हा के दो पुत्र है । बड़ा पुत्र राजीव कुमार और छोटा पुत्र संजीव कुमार भी आईजीएमएस पटना में चिकित्सक हैं।

स्व सिन्हा के निधन को समाज के लिए अपूर्णीय क्षति बताते हुए आमजनों समेत चिकित्सा जगत से जुड़े स्थानीय पुर्व मुखिया किशोर मुन्ना, रविन्द्र मोदी, केशव कुमार गुड्डू, शुशील कर्ण, शालिग्राम पांडेय, रामटहल भगत, पप्पु कुमार मेहता, शिवनारायण मेहता, प्रमोद यादव, प्रमोद कुमार भोथरा, राजेन्द्र वहरखेर, डॉ सुनील मोदी, पूर्व प्रमुख धीरेन्द्र यादव, अरविंद यादव, सूरज पप्पू, गोपाल जी भगत, मुरली ठाकुर, डॉ विपिन कुमार, डॉ शंकर, पूर्व जिला परिषद लक्ष्मी साह, सरपंच शिवनंदन साह, पवन हजारी सहित अन्य लोगों ने गहरी संवेदनाएं व्यक्त की हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!