एक तो बाढ़ का पानी, दूसरा बत्ती गुल, लोगों का जीना मुहाल !

सुपौल/मरौना: मनोज कुमार

एक तो बाढ़ का पानी, दूसरा बत्ती गुल, लोगों का जीना मुहाल !

बिहार/सुपौल: कोसी नदी के दियरा क्षेत्र में डेढ़ माह से जमे बाढ़ के पानी में पिछले दो सप्ताह से पोल गिर जाने के चलते बिजली बाधित हो गई थी।

जिस कारण दियरा के खुखनहा, लक्ष्मीनिया, अमिन्टोला में लोग अंधेरे में रात गुजारने को विवश थे। शनिवार को भाजपा नेता मिथिलेश यादव के आह्वान पर बिजली कर्मियों व अधिकारियों  ने नदी में जाकर गिरे पोल को सही किया और बिजली सप्लाई शुरू की।

SS BROAZA HOSPITAL
SS BROAZA HOSPITAL
Sai-new-1024x576

जानकारी अनुसार कोसी तटबंध के दियरा क्षेत्र में सरकार द्वारा लोगों को रोशनी के लिए सोलर सिस्टम से गांव में बिजली सफ्लाई की है। हर दो टोले पर एक बड़ा सोलर प्लांट लगाया गया है, जिससे गांव में आसानी से बिजली देकर रोशनी हो रही है। दो सप्ताह पहले बाढ़ की तेज़ी पानी के चलते कई जगह पोल व तार गिर गया था।

जिसके चलते गांव के अंधेरे में लोग मजबुरन रहते थे। गांव के दर्जनों लोगों ने बताया कि गांव में रोशनी नहीं रहने के चलते दिन में किसी तरह समय बीत जाता है लेकिन रात के अंधेरे में इस बाढ़ के पानी में रहना बहुत कठिन था।

गांव में चारों तरफ पानी के अलावा किसी-किसी के घर आंगन में भी पानी है जिसके चलते यहाँ रात्रि में बिना रोशनी के रहना जोखिमभरा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!