प्रसाद खाने से हुए दर्जनों बीमार !

मुंगेर: सोनू झा

प्रसाद खाने से हुए दर्जनों बीमार !

बिहार/मुंगेर: नक्सल प्रभावित क्षेत्र धरहरा प्रखंड बंगलवा पंचायत के कोठवा गांव में पूजा का प्रसाद खाने से 100 लोग बीमार हो गए। इसमें एक दर्जन से अधिक ग्रामीणों की हालत गंभीर हो गयी है। देर रात तक सभी को धरहरा पीएचसी में इलाज के लिए भर्ती कराया गया ,जहां चिकित्सकों की निगरानी में इलाज चल रहा है।

मुंगेर जिले के धरहरा प्रखंड के बंगलवा पंचायत के कोठवा गांव में सोमवार की देर शाम सत्यनारायण भगवान के पूजा का प्रसाद खाने से 1 सौ से अधिक लोग बीमार पड़ गए। सभी को प्रसाद खाने के थोड़ी देर के बाद ही उल्टी होने लगी ।पेट में दर्द की शिकायत तथा सर चकराने की शिकायत शुरू हो गयी। देर रात होते-होते यह संख्या 100 तक पहुंच गई ।

SS BROAZA HOSPITAL
SS BROAZA HOSPITAL
Sai-new-1024x576

 

इस संबंध में प्रसाद खाकर बीमार पड़े पप्पू कोड़ा ने बताया कि कोटवा निवासी महेश कोड़ा के घर सत्यनारायण की पूजा हुई थी। देर शाम भजन कीर्तन एवं प्रवचन के बाद प्रसाद का वितरण हुआ। रात्रि 8:00 बजे प्रसाद का वितरण किया गया ।हम लोगों ने प्रसाद खाया। वही घर के अन्य सदस्यों के साथ बच्चे ,वृद्ध, जवान महिला पुरुष एवं ग्रामीणों ने प्रसाद का सेवन किया । लगभग 1 घंटे के बाद सभी को पेट में मरोड़ देकर उल्टी होना तथा सर चकराने की शिकायत होने लगी। जिनके घर पूजा हुई थी उनके परिवार के लोग भी काफी परेशान हो गए ।बच्चे से लेकर बूढ़े तक प्रसाद खाने से बीमार होने लगे।

बीमार होने वालों में संगीता कुमारी, सुनीता कुमारी, पप्पू कोरा, वीरेंद्र पाल सहित 100 से अधिक लोग थे। थोड़ी देर के बाद ग्रामीण चिकित्सकों ने लोगों का इलाज शुरू किया लेकिन कोई सुधार नहीं हुआ। बाद में ग्रामीणों ने ऑटो एवं टेंपो के सहारे बीमार लोगों को धरहरा पीएचसी लाया। जहां गंभीर बीमार लोगों का इलाज किया जा रहा है।

बोले पीएचसी प्रभारी 

इस संबंध में धरहरा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी ने कहा कि विषाक्त प्रसाद का सेवन करने से लोग डायरिया का शिकार हुए हैं। जिसके कारण पेट, दर्द ,उल्टी पैखाना एवं सर चकराने की शिकायत अधिकतर ग्रामीणों में पाया गया है। उन्होंने कहा कि सभी लोगों का इलाज चल रहा है। देर रात तक 50 से अधिक बच्चे ,महिला , पुरुष का इलाज ग्रामीण चिकित्सकों द्वारा गांव में 2 दर्जन से अधिक ग्रामीणों का इलाज प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र धरहरा में किया जा रहा है।

इस संबंध में धरहरा प्रखंड विकास पदाधिकारी मृत्युंजय कुमार ने बताया कि घटना की मेडिकल टीम को गांव भेजा गया है। सभी की स्थिति बेहतर है ।इसमें एक 9 वर्षीय बालक की स्थिति गंभीर है उनका भी इलाज पीएचसी धरहरा में ही किया जा रहा है।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!