सामुदायिक बायो वेस्ट के समाधान की दी जानकारी !

gaurish mishra

सुपौल/करजाईन: गौरीश मिश्रा

सामुदायिक बायो वेस्ट के समाधान की दी जानकारी !

बिहार/सुपौल: स्वयंसेवी संस्था हेल्प एज इंडिया के बसन्तपुर प्रखंड अंतर्गत संस्कृत निर्मली स्थित ईआरसी केंद्र पर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। हेल्पेज इंडिया के समाधान परियोजना के तहत एचएसबीसी के सहयोग से आयोजित इस कार्यक्रम में सामुदायिक बायो वेस्ट के समाधान के बारे में डॉ. राजेंद्र प्रसाद केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय पूसा, समस्तीपुर के मृदा वैज्ञानिक डॉ. शंकर झा ने क्षेत्र के परमानंदपुर एवं निर्मली के बुजुर्ग किसानों को अपने गांव एवं वातावरण को स्वच्छ बनाने के बारे में विस्तृत रूप से जानकारी उपलब्ध कराई

SS BROAZA HOSPITAL
SS BROAZA HOSPITAL
Sai-new-1024x576

 

उन्होंने बताया कि गांवों में गोबर सहित अन्य कचरा को एकत्रित कर उसका निस्तारण कर वर्मी कम्पोस्ट बनाकर उसका उपयोग खाद के रूप में कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि ग्रामीण अगर थोड़ी सी सूझबूझ से काम करें तो गांव भी स्वच्छ होगा तथा खेतों की उर्वरा शक्ति बढ़ाने के लिए वर्मी कम्पोस्ट के रूप में खाद भी उपलब्ध हो जाएगा। डॉ. शंकर झा ने बुजुर्ग किसानों को सरलता से जानकारी देते हुए इसका उपयोग करने की अपील की।

इस दौरान हेल्पेज इंडिया के राज्य कार्यक्रम पदाधिकारी अभिषेक कुमार ने बताया कि बुजुर्ग किसानों के लिए गांवों को स्वच्छ बनाने एवं गांवों के कचरा का उपयोग करने के बारे में यह एकदिवसीय कार्यशाला आयोजित की गई थी। इसमें गांवों के कचरा निस्तारण पर वृहद रूप से चर्चा की गई। उन्होंने कहा कि किसान अगर इसका सही रूप में उपयोग करें तो गांव में स्वच्छता के साथ-साथ किसानों को खेती के लिए वर्मी कम्पोस्ट भी उपलब्ध होगा।

इस मौके पर संस्था के कार्यक्रम पदाधिकारी राकेश क्षत्रिय, कार्यकर्ता राजकुमार मिश्र, जितेंद्र झा, नूर आलम, मु. हासिम, प्रकाश कुमार, बुजुर्ग किसान कृष्ण मोहन पासवान, बच्चे लाल मेहता, राजदेव पासवान, लालमोहन पासवान, मु. मुस्लिम अंसारी, प्रदीप कुमार झा आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!