स्व.विश्वनाथ गुरमैता का 36वां पुण्यतिथि मनाया गया !

सुपौल/सरायगढ़: विमल भारती

स्व. विश्वनाथ गुरमैता का 36वां पुण्यतिथि मनाया गया !

बिहार/सुपौल: विश्वनाथ इंटर महाविद्यालय भपटियाही के प्रांगण में गुरुवार 8 अप्रैल के दिन कॉलेज संस्थापक स्वर्गीय विश्वनाथ गुरमैता का 36 वां पुण्यतिथि मनाया गया।

इस अवसर पर कॉलेज प्रबंधन समिति अध्यक्ष राघोपुर प्रखंड के पूर्व प्रमुख मंजू देवी नेपाली उन्हें पुष्प अर्पित की। पुण्यतिथि के अवसर पर कॉलेज के पूर्व प्राचार्य अवध नारायण सिंह, प्राचार्य महेंद्र प्रसाद साह, सामाजिक कार्यकर्ता चंद्र नारायण गुरुमैता, बसंतपुर प्रखंड पूर्व प्रमुख प्रभादेवी खेरवार, दामोदर वड़ियैत, नागेश्वर यादव, रविंद्र कुमार सिंह एवं

प्रोफेसर सूर्यनारायण मेहता, प्रोफेसर राम नारायण शाह, राजेंद्र प्रसाद रमन, ममता देवी, स्नेह लता देवी, सविता देवी, मौसम खैरवार, उदय प्रकाश मरिक, रामानंद गुरुमैता, मणि भूषण चौधरी, शंकर गुरुमैता, रमन कुमार गुरुमैता, राजकुमार गुरुमैता, शशि रंजन कुमार, गोविंद झा, विश्वनाथ बहरखैर, राजकिशोर यादव, विष्णु कुमार महतो, रविंद्र कुमार, यमुना प्रसाद सिंह, परमानंद अरगरिया, प्रोफेसर अशोक यादव, प्रोफेसर ओमप्रकाश शाह, मोतीराम, सावित्री देवी सहित अन्य ने पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

श्रद्धांजलि कार्यक्रम के बाद सभा का आयोजन किया गया, जिसमें कॉलेज प्रबंधन समिति अध्यक्ष मंजू देवी ने स्वर्गीय विश्वनाथ गुरमैता के जीवन काल के महत्वपूर्ण पक्षों को सामने लाया तथा उससे प्रेरणा लेने की अपील की। उन्होंने कहा कि राजनीति के क्षेत्र में एक सुलझे राजनेता के रूप में विश्वनाथ गुरुमैता ने लंबे समय तक कोसी क्षेत्र का प्रतिनिधित्व किया।

पूर्व प्राचार्य अवध नारायण सिंह, प्राचार्य महेंद्र प्रसाद साह, ललन गुरमैता, रविंद्र कुमार सिंह, प्रोफेसर राम नारायण शाह, राजेंद्र प्रसाद रमण, सेवानिवृत्त प्रोफेसर कृष्ण कुमार सिंह, रमेश अगरिया, योगेंद्र साह आदि ने स्वर्गीय विश्वनाथ गुरुमैता को कोशी का मसीहा बताया।

वक्ताओं ने कहा कि उनके द्वारा स्थापित इंटर महाविद्यालय भपटियाही से आज की तिथि में हजारों छात्र छात्रा उच्च शिक्षा पा रहे हैं। वक्ताओं ने कहा कि 8 अप्रैल 1985 को विश्वनाथ गुरुमैता ने अंतिम सांस लिए और उसी अवधि को उनका पुण्यतिथि मनाया जाता है। श्रद्धांजलि कार्यक्रम में काफी संख्या में दूर-दूर तक के लोग पहुंचे थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!