वैश्विक कोरोनाकाल लॉकडाउन के हालात में रमजानुल मुबारक के आखिरी अलविदा जुमा के अवसर पर घर में नमाज पढ़ा गया !

सुपौल/राघोपुर: विकास आनंद

वैश्विक कोरोनाकाल लॉकडाउन के हालात में रमजानुल मुबारक के आखिरी अलविदा जुमा के अवसर पर घर में नमाज पढ़ा गया !

बिहार/सुपौल: कोरोना संक्रमण महामारी की दूसरी लहर शबाब पर है। देश में पीड़ितों की संख्या लाखों में है। इस महामारी के कारण हर दिन हजारों लोग मर रहे हैं। बिहार में भी दिन-प्रतिदिन संख्या बढ़ रही है। यही कारण है कि बिहार सरकार ने पूर्ण तालाबंदी की घोषणा की है जिसके कारण दुकानें और साथ ही हर धर्म के पूजा स्थल बंद हैं।

पवित्र रमजान का महीना मुसलमानों के बीच चल रहा है, जिसमें एक साधारण मुस्लिम भी मस्जिद बनाता है, रात में तरावीह करता है, लेकिन इस साल मस्जिदें तालाबंदी के कारण निर्जन हैं।आज रमजान का अंतिम शुक्रवार है जिसे मुसलमान हर साल काफी पवित्र मन से मनाते है। इस अवसर पर मुफ्ती अमानुल्लाह कासमी ने नमाज का नेतृत्व किया और देश से महामारी के उन्मूलन के लिए विशेष दुआ की माँग की।

सिमराही नगर और आस-पास के इलाके में रमजानुल मुबारक के आखिरी अलविदा जुमा के अवसर पर मुस्लिम भाइयों द्वारा घर में नमाज पढ़ा गया। युवा समाजसेवी मो आफताब ने बताया कि तेज लहर कोरोना महामारी के संक्रमण के चैन को तोड़ने के लिए हम सब मुसलमान भाइयों ने घर मे नमाज अदा किया और ऊपर वाले से इस संकट को जल्द दूर करने की दुआ माँगी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!