विभिन्न जगहों पर दिखा चक्का जाम का असर, आम लोग रहे परेशान !

सुपौल/छातापुर: आशीष कुमार

विभिन्न जगहों पर दिखा चक्का जाम का असर, आम लोग रहे परेशान !

बिहार/सुपौल: केंद्रीय कृषि कानून के विरोध में शनिवार को महागठबंधन के दलों तथा किसान नेताओं के द्वारा देशव्यापी चक्का जाम किया गया। भाकपा अंचल सचिव रघुनंदन पासवान के नेतृत्व में महागठबंधन के नेता एवं कार्यकर्ताओं ने मुख्यालय स्थित बस पङाव के समीप एस एच 91 पर जाम लगाकर आवागमन बाधित कर दिया ।

sai hospital

जबकि जाप कार्यकर्ताओं ने भीमपुर थाना चौक के समीप हाइवे को घंटों जाम रखते हुए प्रदर्शन किया। जाम के कारण वाहन चालकों एवं आम मुसाफिरों को विकट परिस्थितियों से जुझना पड़ा। अपराह्न काल तकरीबन एक घंटे तक लगे जाम के दौरान केंद्र सरकार के विरुद्ध नारेबाजी की गई । साथ ही कृषि कानून को किसान विरोधी बताते हुए अविलंब इसे वापस लेने की मांग की। नेताओं ने कहा कि केंद्र में जबसे नरेंद्र मोदी की सरकार बनी है, तब से किसान, मजदूर, गरीब की हालत बद से बदतर होती जा रही है।

गलत नीतियों के कारण महंगाई, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार, अपराध में व्यापक इजाफा हुआ है, चक्का जाम कार्यक्रम में राजद नेता डा विपीन कुमार सिंह, कांग्रेस प्रखंड अध्यक्ष ललन कुमार यादव, युवा राजद प्रखंड अध्यक्ष राजेश कुमार यादव, नंदकिशोर यादव, अरविंद यादव, डा तस्लीम, भुवनेश्वर निजपुरिया, जगदेव यादव, शिवशंकर यादव, बुचाय यादव इत्यादि लोग शामिल थे।

वहीं जाप कार्यकर्ताओं द्वारा आयोजित चक्का जाम के दौरान भीमपुर थाना के निकट एन-एच 57 को जाम रखते हुए नारेबाजी की। जाम के कारण हाईवे के दोनो किनारे वाहनों की लम्बी कतारें लग गईं। इस दौरान जाप कार्यकर्ताओ ने केन्द्र व राज्य सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए विवादित कानून को वापस लिए जाने की मांग की।

मौके पर जनअधिकार पार्टी के कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष श्री संजीव मिश्रा ने बताया की केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा ऐसे मुद्दे पर किसानों को बरगलाया जा रहा हैं।जबकि किसानों के द्वारा ही देश के नेताओं और राजनेताओ को निवाला मिलता हैं।

उन्होंने बताया जबतक हमारे अन्नदाता किसान भाईयों के खिलाफ लाये गए काले कानून को वापस नहीं लिया जाता ।उनकी पार्टी के लोग चुप नहीं बैठने वाले।

मौके पर जाप के जिला उपाध्यक्ष सुभाष यादव,मिन्नतुल्लाह खान,दीपक दिलवर, श्याम यादव, चंदन यादव, सुधीर झा, ललन भगत व अन्य लोग मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!