धीरेंद्र ने पूरा किया विधवा मां का सपना, पूरा गांव थपथपाई पीठ !

gaurish mishra

सुपौल/करजाईन: गौरीश मिश्रा

धीरेंद्र ने पूरा किया विधवा मां का सपना, पूरा गांव थपथपाई पीठ !

बिहार/सुपौल: भले ही प्रतिभा जन्म से मिलती है, लेकिन वह निखरती मेहनत से है। ऐसे ही एक गांव की कहानी है जहां पूरा गांव युवाओं की सफलता पर गर्व महसूस कर रहा है। यह कहानी है बसंतपुर प्रखंड अंतर्गत दीनबंधी पंचायत के कटैया वार्ड 1 निवासी धीरेंद्र कुमार यादव की। जिसने आर्थिक परेशानियों को झेलते हुए पहले ही प्रयास में दारोगा पद के लिए चयनित हुआ।

SS BROAZA HOSPITAL
SS BROAZA HOSPITAL
Sai-new-1024x576

 

धीरेंद्र के दारोगा बनने पर पूरा गांव और समाज उनकी सफलता पर गर्व कर रहा है। स्‍वजन उनकी सफलता पर खुशी से फूले नहीं समा रहे हैं। धीरेंद्र ने ग्रामीण क्षेत्रों के युवाओं में भी प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी को लेकर जुनून भर दिया है।

आपको बता दें कि धीरेंद्र की मां विधवा है और उनकी आर्थिक स्थिति भी काफी दयनीय है। विधवा मां का बल और खुद की कड़ी मेहनत के बदौलत धीरेंद्र ने सफलता हासिल किया। सात भाई में सबसे छोटा धीरेंद्र था। धीरेंद्र कुमार यादव ने बताया कि अमरदीप के मार्गदर्शन पर पटना के टाइगर फ़ोर्स एकेडमी में फिजिकल प्रशिक्षण प्राप्त किया। उन्होंने कहा कि घर की हालत आर्थिक रूप से काफी दयनीय है। फिर भी मां के आत्मबल से प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी में जुटे रहे।

धीरेंद्र ने कहा कि मेहनत ही सफलता की कुंजी है। मेहनत लगन से करे तो सफलता जरूर कदम चूमेगी। वहीं धीरेंद्र की सफलता पर उनके बचपन का मित्र जितेंद्र कुमार यादव, रमेश यादव, दिनेश कुमार यादव, विनोद कुमार यादव आदि ने खुशी जाहिर करते हुए उज्ज्वल भविष्य की कामना की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!