हाथ का मेहंदी छुटने से पहले कोरोना ने गुड़िया का संसार उजाड़ दिया !

सुपौल/सरायगढ़: विमल भारती

 

हाथ का मेहंदी छुटने से पहले कोरोना ने गुड़िया का संसार उजाड़ दिया !

बिहार/सुपौल: भपटियाही बाजार की रंजना भारती उर्फ गुड़िया कुमारी का कोरोना ने हाथ का मेहंदी छूटने से पहले ही संसार को उजाड़ दिया। उनकी शादी 17 मार्च 20 21 को काफी धूमधाम के साथ संपन्न हुआ था। दरभंगा के एमबीबीएस डॉक्टर राजीव कुमार जो मूल रूप से शिवहर जिला के बेलाहियान निवासी से हुई थी। 2 माह पूर्व हुई शादी के बाद से गुड़िया अपने पति के साथ ही दरभंगा के दोनार चौक पर रह रही थी जहां उसका निजी आवास तथा क्लीनिक है।

जानकारी अनुसार 10 दिन पूर्व अचानक डॉ राजीव कुमार की तबीयत बिगड़ी तो वह दरभंगा के ही पारस अस्पताल में भर्ती हो गए। वह कोरोना से संक्रमित हो गए थे, जिसकी जानकारी उन्होंने अपनी नव नवेली पत्नी गुड़िया कुमारी सहित सभी संबंधित लोगों को दे दिए थे। जिंदगी की जंग में जब वह हारने लगे तब उसे डीएमसीएच ले जाया गया।

जानकारी अनुसार डॉ राजीव कुमार सोमवार की रात जिंदगी का अंतिम सांस लिए। उसके मौत होते ही गुड़िया का संसार उजड़ गया। 2 माह पहले अपने डॉक्टर पति के साथ गुड़िया ने जो सपना देखी थी वह सब धरा ही रह गया। गुड़िया कुमारी उर्फ रंजना भारती भपटियाही बाजार के उपेंद्र प्रसाद साह की पुत्री है। डॉ राजीव कुमार की मौत के बाद से भपटियाही बाजार में मातम सा नजारा दिखाई दिया। डॉ तथा गुड़िया कुमारी के सुखमय दांपत्य जीवन की शुभकामना देने वाले लोग कुछ बोल नहीं पा रहे हैं।

डॉ राजीव कुमार के निधन के बाद गुड़िया कुमारी तथा उसके परिवार वालों के हालात को देखकर के लोग स्तब्ध हैं। गुड़िया कुमारी को भरोसा देने के लिए भी लोग हिम्मत नहीं जुटा पा रहे हैं। गुड़िया कुमारी का चाचा राजेश कुमार ने बताया कि पूरे परिवार में विकट स्थिति पैदा हो गई है। गुड़िया इकलौती पुत्री है जिसे काफी भरोसे के साथ डॉक्टर के साथ परिणय सूत्र में सौंपा गया था। जो भी लो डॉ राजीव कुमार की मौत की खबर सुन रहे हैं सभी कोरोना से भयभीत हो रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!