लोगों को समझ में नहीं आ रहा संपूर्ण लॉकडाउन का मतलब !

सुपौल/सरायगढ़: विमल भारती

लोगों को समझ में नहीं आ रहा संपूर्ण लॉकडाउन का मतलब !

बिहार/सुपौल: जिले के उत्तरी तथा पश्चिमी छोर पर अवस्थित है, एक लाख से अधिक आबादी वाला प्रखंड सरायगढ़ भपटियाही में आए दिन कोरोना संक्रमण बढ़ता जा रहा है। लेकिन अधिकांश लोगों को संपूर्ण लॉकडाउन का मतलब समझ में नहीं आ रहा है।

भपटियाही बाजार सहित ग्रामीण इलाके में सार्वजनिक स्थलों पर लोगों की भीड़ से स्पष्ट होता है, कि सरकार के आदेश को वह सब स्वीकार करने को तैयार नहीं है। भपटियाही बाजार में प्रशासन के बार-बार दिए चेतावनी के बाद भी लोगों का आवाजाही नहीं रुक रहा है। टेंपो स्टैंड में भी चालक टेंपो लेकर मौजूद देखे जा रहे हैं।

बाजार में भी रह-रह कर लोगों की काफी संख्या दिखाई देती है, जो संक्रमण को बढ़ने का न्योता दे रहे हैं। प्रखंड विकास पदाधिकारी अरविंद कुमार और अंचलाधिकारी संजय कुमार द्वारा जगह-जगह घूम कर लोगों को संपूर्ण लॉकडाउन का पालन करने का सख्त हिदायत दिया गया है। लेकिन उसके बाद भी लोग सुबह शाम सार्वजनिक स्थलों पर भारी संख्या में जमा हो रहे हैं, जिससे संक्रमण बढ़ने का ज्यादा खतरा दिखाई दे रहा है। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सरायगढ़ भपटियाही के स्वास्थ्य प्रबंधक मोहम्मद मीन्नतुल्ला ने बताया कि पिछले 24 घंटे के दौरान प्रखंड क्षेत्र में 175 लोगों का सैंपल लिया गया। जिसमें से छह लोग पॉजिटिव पाए गए। बताया कि जांच में प्रतिदिन पॉजिटिव लोगों की संख्या सामने आ रही है जिसे रोकना जरूरी है।

उधर झिल्ला, डुमरी, लालगंज, चांद पीपर, छिटही हनुमान नगर, पिपरा खुर्द चौक, नारायणपुर चौक, कुशहा ढ़ाला चौक आदि। जगहों पर काफी संख्या में लोग इकट्ठे होते हैं जहां पुलिस समय पर नहीं पहुंच पाती है। जानकारी अनुसार विभिन्न ग्रामीण हाटों पर जिस समय लोगों की भीड़ जमा होती उस समय वहां पुलिस नहीं पहुंचती है।

जानकार लोगों का कहना है कि प्रखंड क्षेत्र के लोगों को संपूर्ण लॉकडाउन का अक्षरसह पालन करना पड़ेगा ताकि कोरोना का संक्रमण रुक सके। इसके लिए क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों को भी आगे आने की जरूरत है जो नहीं हो रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!