किसानों का सिर फोड़ना लोकतंत्र की हत्या करना है: इंजीनियर निराला

डेस्क

 

किसानों का सिर फोड़ना लोकतंत्र की हत्या करना है: इंजीनियर निराला

बिहार/सुपौल:  राष्ट्रीय युवा महासंघ का आवश्यक बैठक निम्नलिखित बिंदु पर रंजीत पासवान के निज आवास
चरणे छातापुर सुपौल में आयोजित किया गया ।

बैठक की अध्यक्षता राष्ट्रीय युवा महासंघ के अध्यक्ष इंजीनियर एलके निराला ने की एवं मंच संचालन सुभाष कुमार यादव ने किया। बैठक की उद्घोषणा पूनम कुमारी के द्वारा किया गया। बैठक को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय युवा महासंघ अध्यक्ष इंजीनियर एलके निराला ने कहा कि यह बैठक कई अहम विषय को केंद्रित किया गया है।

उन्होंने सर्वप्रथम बीपी मंडल के प्रतिमा तोड़ने की साजिश का पर्दाफाश करते हुए कहा देश के कुछ लोगों को बहुजन विचारधारा के महापुरुषों से इतनी घृणा है कि उनके प्रतिमा से भी उनको डर लगता है। किसी भी महापुरुषों के प्रतिमा और चित्र के पीछे चरित्र छिपा होता है और बी पी मंडल कन्याकुमारी से लेकर कश्मीर तक की यात्रा करके पिछड़ों के समाज को एकत्रित कर 1992ई. में मंडल कमीशन में लागू करवाया गया और पिछड़े वर्ग को अधिकार दिया गया।

SS BROAZA HOSPITAL
SS BROAZA HOSPITAL
Sai-new-1024x576

 

उनका प्रतिमा तोड़ा जाना उन को अपमानित करना हुआ। प्रतिमा तोड़ने वाले पर सख्त कार्रवाई हो महासंघ अध्यक्ष ने करनाल में हुए किसानों पर लाठीचार्ज और वहां के अधिकारियों द्वारा सिर फोड़ने वाली बयान की पुरजोर निंदा किया।

उन्होंने कहा राज्य की शासन व्यवस्था लाठी और डंडे से नहीं बल्कि संविधान से चलता है लेकिन वर्तमान किसानों के साथ दोहरी रवैया किया जा रहा है। सरकार को जल्द से जल्द तीनों काला कानून को वापस करना चाहिए। वापस करने के बजाए सरकार और पुलिस किसानों के सिर फोड़ने पर उतावला हो रहे हैं। किसानों का खून यदि इस तरह से बहेगा तो हम लोग चुप बैठने वाले लोग नहीं हैं।

जाति जनगणना 2021 में यदि नहीं किया गया तो जनगणना हम लोग नहीं करवाएंगे। इंजीनियर निराला ने कहा आबादी का दार पर भागीदारी हमारा लोकतांत्रिक अधिकार है। कई क्षेत्रीय मुद्दों को उठाते हुए उन्होंने कहा वर्षा के इस मौसम में नदी नाले नाथ के तटबंध कमजोर रहने के कारण कभी भी कोई तटबंध टूट जा रहा है लेकिन प्रशासन के लोगों को बार-बार आगाह करने पर भी समय रहते उस पर ध्यान नहीं देते हैं। सुरसर नदी के बांध कई जगह टूट गए हैं लोगों के निजी जमीन से होकर नदी गुजर रही है और कभी भी बांध टूट सकती है जिससे हजारों की आबादी एवं फसल बर्बाद हो सकता है।

बिशनिया नहर टूटने से सैकड़ों लोगों के फसल बर्बाद हुए राजेश्वरी नहर टूटने से भी सैकड़ों लोगों की फसल बर्बाद हुए। सरकार को चाहिए जिन किसानों की फसल बर्बाद हुए हैं उनको जल्द फसल का मुआवजा दिया जाए।

सभा को मुख्य रूप से राष्ट्रीय युवा महासंघ के मार्गदर्शक दिलीप कुमार यादव, दीपक कुमार सरदार, सेवानिवृत्त सैनिक शंभू यादव, पिंटू कुमार, जगदीश प्रसाद यादव, रंजीत कुमार पासवान, नंदकिशोर यादव, नवीन कुमार आदि ने भी संबोधित किया।

कार्यक्रम में मुख्य रूप से मनोज शाह, बलराम यादव, जुड़ी मंडल, आनंदी शर्मा, योगेंद्र मंडल, नाजीर पासवान, सत्येंद्र मेहता, विनोद राज, सुनील यादव, अनिल यादव, नारायण सरदार, चंद्र किशोर यादव, प्रमोद यादव, संजीव शर्मा, नंदलाल मंडल, जगदीश यादव, गौतम ऋषिदेव, नंदी ऋषिदेव, प्रमोद राम, सुनील राम आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!